Breaking Newsअंतरराष्ट्रीयअंतर्गामी पर्यटनअन्यइंटरव्यूउत्तर प्रदेशउत्तराखंडउत्पादन पद्धतिएजुकेशनऐतिहासिककबड्डीकरंट अफेयर्सकरियरकृषिकृषि विज्ञानकैरियर टिप्सक्रिकेटखबरेखेलगुजरातगॉसिपग्रामीण पर्यटनघरेलु पर्यटनचाइल्ड केयरछोटा पर्दाजम्मू कश्मीरजिज्ञाशाजिम्नास्टिकजैविक कृषिजॉब्सझारखण्डट्रेलरदर्शनीयदिल्लीदेशदेशधर्मधार्मिकधार्मिक स्थलनारी सशक्तिपर्यटनपशु पालनपेड़-पौधेपैसो की बातप्रेगनेंसीफसल उत्पादन प्रणालीफिटनेसफिल्म समीक्षाफिल्मी खबरेफैशनबागवानीबिहारब्यूटी टिप्सभोजपुरी जगतमंत्रमत्स्य पालनमध्य प्रदेशमहाराष्ट्रमुर्गी पालनमूवी मसालामेकअपरहन / सहनराइट / डाइटराजस्थानराज्यराशिराष्ट्रीयरिलेशनशिपलाइफ स्टाइलवन्यजीव पर्यटनवायरल वीडियोविदेशविदेशव्रत/त्योहरसक्सेस स्टोरीजसामान्य ज्ञानसांस्कृतिकस्टार टेकस्त्रीहाउस कीपिंगहिमाचल प्रदेशहॉकी

डेंगू के मरीजों की संख्या में ठंड का आगमन होने के बावजूद भी नही आ रही गिरावट

सर्दी खांसी और बुखार की शिकायत के बावजूद भी अधिकतर लोग डेंगू की जांच करवाना उचित नहीं समझते हैं।

पटना–जिला अंतर्गत बाढ़ अनुमंडल में डेंगू का कहर रुकने का नाम नहीं ले रहा है।सरकारी अस्पताल के आंकड़े के मुताबिक अभी भी डेंगू के मरीज मिल ही रहे हैं।एक आंकड़े के मुताबिक बाढ़ अनुमंडल अस्पताल में हाल के दिनों में 16मरीज, बख्तियारपुर में 31 मोकामा में 8 घोसवरी में दो और बेलछी  प्रखंड में एक मरीज मिले हैं।सर्दी खांसी और बुखार की शिकायत के बावजूद भी अधिकतर लोग डेंगू की जांच करवाना उचित नहीं समझते हैं।और जब उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ जाती है तो आखरी विकल्प मानकर सरकारी अस्पताल का शरण लेते हैं जिसके चलते मरीज की तबीयत ज्यादा खराब हो जाती है और जान भी चली जाती है।बाढ़ अनुमंडलीय अस्पताल के उपाधीक्षक डॉक्टर विनय कुमार चौधरी ने बताया कि लंबी सर्दी खांसी और बुखार यदि ठीक नहीं होता है तो वैसे स्थिति में सरकारी अस्पताल में समय रहते जांच करवानी चाहिए। अनुमंडलीय अस्पताल में डेंगू मरीजों के लिए अलग मरीज का वार्ड बनाए जाने के साथ-साथ उनके लिए समुचित दवा दारू की व्यवस्था भी उपलब्ध है।लेकिन जब मरीज की हालत ज्यादा गंभीर हो जाती है तो आखिरी मौके पर मरिज अस्पताल पहुंचते हैं वैसे में उसकी जान भी जा सकती है।डेंगू से बचाव के लिए साफ सफाई एवं घर में कहीं भी पानी जमा लंबे समय तक नहीं होना चाहिए। डेंगू के मच्छर जमा पानी में ही उत्पन्न होते हैं।

Related Articles

Back to top button